कोरोना वायरस से लड़ने में विटामिन डी है कारगर: डॉ. शोभा लाल

बेतिया : पश्चिम चंपारण निवासी व ज्योति विद्यापीठ महिला विश्वविद्यालय जयपुर के एजुकेशन एंड मेथाडोलॉजी के डीन एवं कोरोना पर अनुशंधान के लिए विश्वविद्यालय स्तर पर गठित टीम के सदस्य डॉ. शोभा लाल ने बताया कि दुनिया में कोरोना संक्रमण से हुई मौतों का प्रमुख कारण विटामिन-डी की कमी के रूप में भी सामने आया है। यह रिपोर्ट हमें भी सतर्क कर रही है, क्योंकि देश में भी बड़ी आबादी विटामिन-डी की कमी से जूझ रही है। शरीर में विटामिन-डी की स्थिति बेहतर करके हम कोरोना वायरस के खतरे को कम कर सकते हैं। ज्योति विद्यापीठ महिला विश्वविद्यालय के कुशल मार्गदर्शन में अनुसंधान के परिणाम को प्रकाशित करके देश के विभिन्न सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों को भेज दिया गया है। विश्वविद्यालय के संस्थापक व सलाहकार तथा अनुसंधान टीम के मेंटर डॉ. पंकज गर्ग व उनकी टीम ने जो अनुसंधान के बाद मार्गदर्शिका जारी किया है। उसको अपना कर कोरोना से बचा जा सकता है। अध्ययन के दौरान ऐसा पाया गया है कि वायरस से मृत्यु का शिकार हुए मरीजों में विटामिन-डी की कमी मौत का प्रमुख कारण मिली। अंतरराष्ट्रीय जर्नल में यह शोध प्रकाशित हो चुका है। इसके मुताबिक हड्डी-मांस पेशियों में दर्द विटामिन-डी की कमी का लक्षणभर है। विटामिन-डी का शरीर में मल्टीपल रोल है। यह फेफड़े का फंक्शन दुरुस्त रखने में मददगार है, जो कि संक्रमण से भी बचाने में कारगर साबित होता है। अनुसंधान टीम के सदस्य के अनुसार शरीर की कोशिकाओं में रिसेप्टर की बांडिंग होती है। विटामिन-डी इस बांडिंग को मजबूती प्रदान करता है। विटामिन-डी की कमी से सेल्स में मौजूद रिसेप्टर साइक्लिक एएमपी, ऑक्ट 3/4, पी 53 की बांडिंग में कमजोरी आ जाती है। यहीं मौका पाकर वायरस सेल में दाखिल हो जाता है। इसके बाद फेफड़े तक पैठ बनाकर शरीर पर हमला करता है। ऐसे में यदि विटामिन-डी शरीर में ठीक है, तो वायरस से मुकाबला आसान हो जाएगा।

बेस्ट डायरेक्टर और डीन के रूप में चयनित हुए डॉ. लाल
डॉ. शोभा लाल

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *