Sauna Bath आपके Health के लिए है बहुत ही लाभकारी अतएव यह वजन कम करने के साथ-ही-साथ आपको रक्तचाप से होने वाले मौत से भी सुरक्षा करेगा|

Sauna Bath आपके Health के लिए है बहुत ही लाभकारी अतएव यह वजन कम करने के साथ-ही-साथ आपको रक्तचाप से होने वाले मौत से भी सुरक्षा करेगा|

सप्ताह में 4 से 7 दिनों के (SAUNA BATH) सॉना स्नान का दौरा करने वाले लोग सप्ताह में सिर्फ एक बार जाने वाले लोगो की तुलना में स्ट्रोक का 61% कम जोखिम दिखता हैं|

 

फिनलैंड में लोग, जो नियमित रूप से सौना स्नान (SAUNA BATH) करते हैं, उन लोगों की तुलना में बहुत कम लोग स्ट्रोक जैसे भयानक जोखिम का सामना करते हैं, जैसा कि बुधवार को फ़िनलैंड के एक अध्ययन सभा में कहा गया था।सॉना स्नान फिनलैंड की संस्कृति का महत्वपूर्ण अंग है। फिनलैंड की 54 लाख की जनसंख्या में 30 लाख से भी ज्यादा सॉना हैं, जिसका मतलब है कि हर घर में औसतन कम से कम एक सॉना है। फिनलैंड के लोग हमेशा से मानते हैं

 

Sauna Bath  के बहुत से स्वास्थ्यवर्धक लाभ हैं-

 

ऐसा स्नान करने से शरीर में रक्त का संचालन अच्छा होता है और  तनाव से मुक्ति मिलती है जो दिल को स्वस्थ रखने में बहुत मदद करता है।

मांसपेशियों को आराम मिलने के कारण यह अर्थराइटिस के रोगी को दर्द से कुछ हद तक राहत दिलाने में भी बहुत मदद करता है।

इस प्रकार से स्नान से शरीर का तापमान बढ़ जाता है जिससे रक्त वाहिकायें (blood vessels) खुल जाती है। जिसके कारण शरीर से विषाक्त पदार्थपसीना के रूप में बाहर निकल जाता है।

पसीना निकल जाने के कारण यह त्वचा को भी स्वस्थ रखने में मदद करता है।

इस स्नान से शरीर के मांसपेशियों को आराम मिलता है जिसके कारण एन्ड्रोफिन्स (endorphins) निकलता है जो अच्छी नींद आने में मदद करता है।

सॉना स्नान के दौरान पसीना के रूप में ऊर्जा या एनर्जी काखपत होता है। फैट और कार्बोहाइड्रेड का खपत इस ऊर्जा के संचार में खत्म होने से यह वज़न घटाने के प्रक्रिया में मदद करता है।

जर्मन के वैज्ञानिकों के अध्ययन के अनुसार स्टीम बाथ करने से इन्फ्लूएंजा और कोल्ड के कष्ट को भी कुछ हद तक राहत पाया जा सकता है।

इन सबके अलावा सॉना स्नान दिल की बीमारी से होने वाले मौत को खतरे के संभावना को कम करने में मदद करता है।

 

निष्कर्षतः जनसंख्या आधारित कुओपियो इस्केमिक हार्ट रोग जोखिम फैक्टर (केआईएचडी) अध्ययन पर आधारित हैं और फिनलैंड के पूर्वी हिस्से में रहने वाले 53 से 74 वर्ष की आयु के 1,628 पुरुष और महिलाएं शामिल है| शोधकर्ताओं ने पाया कि व्यायाम, उच्च कोलेस्ट्रॉल, धूम्रपान और मधुमेह सहित स्ट्रोक जोखिम को प्रभावित करने वाले अन्य कारकों के समायोजन के बाद भी लाभ जारी रहा|

 

ब्रिस्टल विश्वविद्यालय के अध्यापक लेखक सेटर कुनसुटर ने कहा, “ये परिणाम रोमांचक हैं क्योंकि वो लोग जो विश्राम और आनंद के लिए Sauna का उपयोग करते हैं, वे आपके संवहनी स्वास्थ्य पर भी लाभकारी प्रभाव डाल सकते हैं।”

“सौना में रक्तचाप कम करने का असर पड़ता है, जो स्ट्रोक जोखिम पर लाभकारी प्रभाव को कम कर सकता है।”

पिछले अध्ययनों ने सौना उपयोग को उच्च रक्तचाप,  डिमेंशिया और कार्डियोवैस्कुलर बीमारी को मृत्यु के लिए कम उत्तरदायी ठहराया है|

 

फिनलैंड के पूर्वी हिस्से में 53 से 74 वर्ष के आयु वर्ग के लोगों को नामांकित किया गया|

उम्र, लिंग, मधुमेह, बॉडी मास इंडेक्स, रक्त लिपिड, शराब की खपत, शारीरिक गतिविधि और सामाजिक-आर्थिक स्थिति जैसे परंपरागत स्ट्रोक जोखिम कारकों को ध्यान में रखते हुए भी सहयोग जारी रहा। पुरुषों और महिलाओं में संघ की ताकत समान थी।

विशेषज्ञों का कहना है कि कुछ लोगों को सौना से बचना चाहिए, जिनमें हाल ही में दिल का दौरा पड़ा था, अस्थिर एंजेना वाले लोग, और कम रक्तचाप वाले बुजुर्ग लोग।

 

 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *