संत तेरेसा बालिका विद्यालय में विधिक जागरूकता शिविर आयोजित

संत तेरेसा बालिका विद्यालय में विधिक जागरूकता शिविर आयोजित

 

कार्यक्रम में उपस्थित पदाधिकारी

छात्राओं से पीड़ित मानवता की सेवा व सुरक्षा करने का दिलाया गया संकल्प

बेतिया : जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव सह न्यायाधीश योगेश शरण त्रिपाठी ने कहा कि मानवाधिकार की रक्षा करना हम सबकी जिम्मेवारी है। इसके लिए हमें सजग रहना होगा। ताकि, मानवाधिकार कोई उल्लंघन ना कर सके। संविधान ने इस दिशा में हमे पर्याप्त मौलिक अधिकार प्रदान किया है। समता का अधिकार, स्वतंत्रता का अधिकार, धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार, शोषण के विरूद्ध आवाज उठाने का अधिकार प्रदान किया है। वे जिला विधिक सेवा प्राधिकार के तत्वावधान में नगर के संत तेरेसा बालिका विद्यालय में सोमवार को आयोजित विधिक जागरूकता शिविर में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि बालिकाओं को भी मानवाधिकार की जानकारी होनी चाहिए। उनके अगल-बगल में उनकी जानकारी में कोई मानवाधिकार का उल्लंघन हो रहा है, तो इसकी सूचना वे पुलिस को दे ही साथ-साथ जिला विधिक सेवा प्राधिकार को भी दे। मौके पर बालिकाओं ने मुख्य वक्ता योगेश शरण त्रिपाठी से मानवाधिकार से जुड़े कई सवाल किए। इन सवालों का जवाब न्यायाधीश योगेश शरण त्रिपाठी ने शिक्षक के अंदाज में बड़ी सहजता से दी। इसके पूर्व बालिकाओं ने पदाधिकारियों का स्वागत फूलों का गुलदस्ता देकर किया। उन्होंने ने भी बालिकाओं को गुलाब सौंपे और जीवन में सफलता हासिल करने का आशीष दिया। बालिकाओं ने इस अवसर पर कैंडल जलाए और मानवाधिकार की रक्षा किए जाने की शपथ ली। कार्यक्रम का शुभारंभ विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव ने दीप प्रज्जवलन कर किया। दीप प्रज्जवलन में उनका साथ संत तेरेसा बालिका उच्च विद्यालय की प्राचार्य सिस्टर प्रफुल्ला, अधिवक्ता रमेश चंद्र पाठक, राकेश डिक्रूज आदि ने दिया। कार्यक्रम में अधिवक्ता रमेश चंद्र पाठक, सुनील डिक्रुज, प्राचार्य सहित वक्ताओं ने अपने विचार रखे।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *